केन्द्र सरकार ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए डिजास्‍टर फंड का खोला खजाना

OM TIMES  e-news paper India
Publish Date- 15/3/2020. https://omtimes.in omtimes.in -15-3-2020-4 नई दिल्ली ( ऊँ टाइम्स) कोरोना वायरस से अब तक हुई दो मौतों और करीब 83 लोगों के संक्रमित होने के बाद केंद्र सरकार ने अब इसे आपदा की श्रेणी में शामिल कर लिया है। इसके साथ ही केंद्र सरकार ने इससे निपटने के लिए राज्यों को अपने आपदा फंड का खजाना खोलने की छूट दे दी है। कोई भी राज्य अब राज्य आपदा फंड से कोरोना से निपटने के लिए सुविधाएं जुटा सकेगा। हालांकि सरकार ने इसे लेकर जारी किए गए पहले नोटिफिकेशन में कोरोना से होने वाली प्रत्येक मौत पर इस फंड से ही चार लाख रुपए की मुआवजा देने की घोषणा की थी। जिसे बाद में वापस से लिया गया।

मरीजों के इलाज पर खर्च किया जाएगा रकम- कोरोना के बढ़ते फैलाव को देखते हुए गृह मंत्रालय ने स्टेट डिजास्टर रिस्पांस फंड (एसडीआरएफ) के नियमों में यह अहम बदलाव किया है। इसके तहत कोरोना को आपदा की श्रेणी में लाया गया है, ताकि आपदा फंड का राज्य इस चुनौती से निपटने के लिए इस्तेमाल कर सकें। शनिवार को जारी नोटीफिकेशन के तहत इस फंड का इस्तेमाल कोरोना से प्रभावित लोगों के रहने के लिए वैकल्पिक प्रबंधन सहित उनके खाने, कपड़े, दवाईयों आदि पर खर्च किया जा सकेगा। फिलहाल इस पर आपदा फंड में मिलने वाली कुल सालाना राशि का 25 फीसद तक की राशि ही राज्य खर्च कर सकेंगे।
राज्यों को यह फंड केंद्र सरकार की ओर आपदाओं से निपटने के लिए दिया जाता है। जिसकी देखरेख राज्य स्तर पर ही एक कमेटी करती है। गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को जारी पत्र में कहा है कि इस फंड का इस्तेमाल जिन और क्षेत्रों में किया जा सकेगा, उनमें यदि किसी राज्य को इसकी जांच के लिए और लैब या हेल्थ केयर उपकरण आदि खरीदने की जरूरत महसूस होती है, तो वह भी इस फंड का इस्तेमाल कर सकेंगे। वहीं इसका इस्तेमाल स्वास्थ्य कर्मियों, नगर निगम कर्मियों, पुलिस और फायर बिग्रेड आदि को कोरोना संक्रमण की चुनौती से निपटने के लिए तैयार करने में किया जा सकेगा।

कोरोना सम्बन्धी नया  नोटीफिकेशन किया गया जारी- इसके अलावा अस्पतालों को थर्मल स्कैनर, एयर प्यूरीफायर्स, वेंटीलेटर्स आदि से लैस करने में भी इस फंड का इस्तेमाल किया जा सकेगा। यह हिस्सा राज्य आपदा कोष को दिए जाने वाले सालाना फंड का 10 फीसद तक ही हो सकेगा। हालांकि इससे पहले दिन में गृह मंत्रालय की ओर से एक और नोटिफिकेशन जारी किया गया था, जिसमें कोरोना संक्रमण से होने वाली प्रत्येक मौत पर चार लाख रुपए का मुआवजा देने की बात कही गई थी। लेकिन कुछ ही घंटों के बाद सरकार ने इसमें बदलाव कर नया नोटीफिकेशन जारी कर उसे हटा दिया।

राष्ट्रपति भवन में होने वाला पद्म पुरस्कार समारोह भी हुआ स्थगित- स्वास्थ्य मंत्रालय से जुड़े अधिकारियों की मानें तो कोरोना से निपटने के लिए आपदा फंड का खजाना खोल दिए जाने से राज्यों को अब छोटी-छोटी जरूरतों के लिए केंद्र की ओर नहीं ताकना होगा। वह अपने स्तर पर कोरोना से निपटने के लिए बेहतर इंतजाम कर सकेंगे। वहीं कोरोना के बढते संक्रमण और एक जगह पर ज्यादा लोगों के न जुटने की स्वास्थ्य मंत्रालय की सलाह को मानते हुए राष्ट्रपति भवन में 26 मार्च और तीन अप्रैल आयोजित होने वाले पद्म पुरस्कारों के वितरण कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया है। अब कोरोना के हालत संभलने की स्थिति में पद्म पुरस्कार वितरण समारोह की नई तिथियों का ऐलान होगा।

अब मास्‍क और सेनेटाइजर की कालाबाजारी करने वालों पर गिरेगी गाज – कोरोना वायरस से बचाव के लिए लोग मास्‍क और हेंड सेनेटाइजर खरीदने पर ज्‍यादा जोर दे रहे हैं। इससे बाजार में हेंड सेनेटाइजर और मास्‍क की मांग बढ़ गई है जिसे देखते हुए सरकार ने एन-95 समेत अन्य मास्क और सेनेटाइजर को अनिवार्य वस्तु की श्रेणी में लाने का एलान किया है। कोरोना वायरस के फैलने के साथ इन दोनों उत्पादों की कमी और कालाबाजारी के कारण यह कदम उठाया गया है। सरकारी आदेश के मुताबिक, ये उत्पाद अनिवार्य वस्तु श्रेणी में जून तक रहेंगे। सरकार के इस कदम से कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई हो सकेगी।

दुनिया में हलचल पैदा कर दिया है इस वायरस ने – चीन में करीब तीन महीने पहले दस्तक देने वाला कोरोना वायरस अब वैश्विक महामारी बन चुका है। इस वायरस के संक्रमण से 5,000 से ज्‍यादा लोगों की मौत हो गई है जबकि दुनियाभर में 1,34,300 से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। अकेले चीन में इस बीमारी के कारण अभी तक 3,176 लोगों की जान जा चुकी है। इस वायरस से इटली में 1,016 और ईरान में 514 लोगों की मौत हुई है। स्पेन में इस वायरस से 120 मौतें हुई हैं जबकि 4,209 लोग संक्रमित हुए हैं। दक्षिण कोरिया (67 मौत, 7,979 मामले) जबकि जापान में 675 लोग इस वायरस से संक्रमित पाए गए हैं।

लेखक: OM TIMES News Paper India

(Regd. & App. by- Govt. of India ) प्रधान सम्पादक रामदेव द्विवेदी 📲 9453706435 🇮🇳 ऊँ टाइम्स

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s