रूस ने कहा भारत को यूएन सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य होना चाहिए

OM TIMES e-news paper India
Publish Date – 15/1/2020. https://omtimes.in IMG_20200115_114448  नई दिल्ली (ऊँ टाइम्स)  रूस के विदेश मंत्री सगेर्ई लावरोव ने कहा कि भारत को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य होना चाहिए। उन्होंने कहा कि विकासशील देशों को पर्याप्त प्रतिनिधित्व का मौका दिया जाना चाहिए। लावरोव ने यह बात नई दिल्ली में वैश्विक कूटनीति पर आयोजित होने वाला कार्यक्रम रायसीना डॉयलॉग-2020 में कहा।
लावरोव ने इस दौरान यह भी कहा कि जी 7 ब्रिक्स के फैसलों के लिए महत्व का कोई मुद्दा तय नहीं कर सकता है। इसकी जगह जी 20 को होना चाहिए। भारत और ब्राजील को यूएनएसी में बिल्कुल होना चाहिए। विकासशील देशों को वहां पर्याप्त प्रतिनिधित्व का मौका दिया जाना चाहिए। उन्होंने इस दौरान यह भी कहा ‘हम आश्वस्त हैं कि वैश्विक विकास की व्यापक प्रवृत्ति आर्थिक, वित्तीय शक्ति और राजनीतिक प्रभाव के नए केंद्रों के गठन की उद्देश्य प्रक्रिया है। भारत जाहिर तौर पर उनमें से एक है।’
लावरोव ने कहा कि मॉस्को खाड़ी देशों से क्षेत्र के लिए एक सामान्य सुरक्षा तंत्र पर विचार करने का आग्रह कर रहा है। हम खाड़ी देशों को सामूहिक सुरक्षा तंत्र के बारे में सोचने का सुझाव दे रहे हैं। इसकी शुरुआत विश्वास निर्माण उपायों और एक दूसरे को सैन्य अभ्यास के लिए आमंत्रित करके होनी चाहिए!
इस दौरान सगेर्ई लावरोव ने इंडो-पैसिफिक इनिशिएटिव पर कहा कि अमेरिका, जापान और अन्य द्वारा आगे बढ़ाई जा रही नई इंडो-पैसिफिक अवधारणा मौजूदा संरचना को फिर से कॉन्फिगर करने का प्रयास है। किसी को रोकने के लिए कोई प्रयास नहीं होना चाहिए। हम भारत की स्थिति का समर्थन करते हैं। इंडो-पैसिफिक को चलाने वालों ने हमें बताया कि यह एशिया पैसिफिक से ज्यादा लोकतांत्रिक है। इंडो-पैसिफिक को चीन को रोकने के लिए बनाया गया है। इसका उद्देश्य विभाजनकारी नहीं होना चाहिए।
गेर्ई लावरोव ने आगे कहा कि आपको इसे एशिया पैसिफिक कहने की आवश्यकता क्यों है? आपको उत्तर पता है, इसका उत्तर चीन रोकना है। यह भी छिपा नहीं है। भारतीय मित्र अच्छे से इस खतरे को समझते और वे इसमें शामिल नहीं होंगे। ग्रेटर यूरेशिया पर उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं है कि हम दार्शनिक शब्दावली के खिलाफ हैं, लेकिन इसे समझना चाहिए। हम हिंद महासागर की स्थिति के कारण एशिया पैसिफिक क्षेत्र कहते थे।

लेखक: OM TIMES News Paper India

(Regd. & App. by- Govt. of India ) प्रधान सम्पादक रामदेव द्विवेदी 📲 9453706435 🇮🇳 ऊँ टाइम्स , सम्पादक अविनाश द्विवेदी

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s