आज अमेरिका ने सुलेमानी को किया ढेर, ईरान ने कहा – हत्‍या का लेंगे बदला

OM TIMES  e-news paper India
Publish Date – 3/1/2020. https://omtimes.in IMG_20200103_124932बगदाद / नई दिल्ली (ऊँ टाइम्स)  ईराक की राजधानी बगदाद में स्थिति अमेरिकी दूतावास पर हुए हमले के बाद आज दिनांक 3 जनवरी 2020 को अमेरिका ने बहुत सख्‍त कार्रवाई किया है। अमेरिका ने आज बगदाद एयरपोर्ट पर एक एयर स्‍ट्राइक किया जिसमें ईरान समर्थित कुर्द बल के प्रमुख मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की मौत हो गई। रिपोर्टों के मुताबिक सुलेमानी का काफिला बगदाद एयरपोर्ट की ओर बढ़ रहा था तभी एक रॉकेट हमले की जद में आ गया। हमले में ईरान समर्थित मिलिशिया पॉपुलर मोबलाइजेशन फोर्स के डिप्टी कमांडर अबू महदी अल-मुहांदिस की भी मौत हो गई।
इस पर प्रतिक्रिया ब्यक्त करते हुए ईरानी रक्षा मंत्री आमिर हतामी ने कहा कि ईरान मेजर जनरल कासिम सुलेमानी की हत्‍या का मुकम्‍मल बदला लेगा। उन्‍होंने कहा, इस हत्‍या के लिए जो भी जिम्‍मेदार हैं हम उनसे बदला लेंगे। इससे पहले इरानी गार्ड के पूर्व प्रमुख ने सुलेमानी की मौत का बदला लेने की कसम खाई है। इन बयानों से साफ जाहिर है कि आने वाले दिनों में अमेरिका और ईरान के बीच टकराव और बढ़ने वाला है।
इस हमले में कुल आठ लोगों की मौत हुई है। सुलेमानी पश्चिम एशिया में ईरानी गतिविधियों को चलाने के प्रमुख रणनीतिकार थे। सुलेमानी पर इजरायल में भी रॉकेट हमलों को अंजाम देने का आरोप था! इराकी राजनेता एवं उच्‍च पदस्‍थ अधिकारी ने हमले में सुलेमानी और अल-मुहांदिस के मारे जाने की पुष्टि की। यही नहीं इनके अलावा ईरान के दो वफादार मिलिसिया नेताओं के भी मारे जाने की पुष्टि हुई है। मारे गए अधिकारियों में अमेरिकी दूतावास पर हमले में शामिल रहे कैतब हिजबुल्लाह का एक अधिकारी भी शामिल है। रिपोर्टों में कहा गया है कि अमेरिका को सुलेमानी की शिद्दत से तलाश थी।

अंगूठी से सुलेमानी के शव की हुई है पहचान –  रिपोर्टों के मुताबिक, सुलेमानी का विमान बगदाद एयरपोर्ट पर पहुंचा था। विमान से उतरने के बाद सुलेमानी अभी मुहांदिस से मिल ही रहे थे कि अमेरिकी मिसाइल आकर गिरी जिससे सभी लोग मौके पर ही मारे गए। सुलेमानी के शव की पहचान उनकी अंगूठी से हुई। वहीं इराकी सेना की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि बगदाद में अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर अमेरिका की ओर से तीन रॉकेट दागे गए जिनसे दो कारों में विस्फोट हुआ। ईरान के रेवोल्यूशनरी गार्ड ने सरकारी टेलीविजन पर एक बयान में कासिम सुलेमानी की मौत की पुष्टि की है।

इंटरनेशनल मार्केट में हाहाकार, तेल की कीमतों में हुई भारी बढ़ोत्तरी –  अमेरिकी एयर स्‍ट्राइक कुद बल के प्रमुख जनरल कासिम सुलेमानी की मौत और ईरान समर्थित बल द्वारा इस हत्‍या का बदला लेने की बात सामने आने के बाद एशियाइ तेल बाजार में तेल की कीमतों में भारी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। समाचार एजेंसी स्‍पुतनिक के मुताबिक, क्रूड ऑयल की कीमतों में 1.31 फीसद यानी 67.12 डॉलर प्रति बैरेल की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। अमेरिकी क्रूड की कीमतों में 1.24 फीसद यानी 61.94 डॉलर प्रति बैरल का इजाफा हुआ है। माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में भी इस हमले का प्रतिकूल असर देखने को मिल सकता है।

इन बड़े सैन्‍य अधिकारियों की मौत से मध्‍य पूर्व की परिस्‍थितियों के लिए एक बड़ा टर्निंग प्‍वाइंट है। माना जा रहा है कि ईरान इस हमले का करारा जवाब देगा जिससे हालात बिगड़ सकते हैं। यही नहीं जवाबी हमलों से अमेरिकी और इजराइली हितों को नुकसान भी हो सकता है। पिछले साल ईरान और अमेरिका के बीच तनाव उपजा था जो समय के साथ और बढ़ता जा रहा है। मौजूदा वक्‍त में अमेरिका ने ईरान पर कई तरह की पाबंदियां लगा रखी हैं। इन्‍हें हटाने को लेकर ईरान की ओर से भी समय समय पर तल्‍ख बयान सामने आते रहे हैं!

ट्रंप ने ट्वीट किया अमेरिकी ध्‍वज –  पॉपुलर मोबिलाइजेशन फोर्सेज यानी पीएमएफ ने भी हमले के पीछे अमेरिका का हाथ बताया है। अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने अपने ट्विटर हैंडलर से अमेरिकी ध्‍वज को ट्वीट किया है। बिना टेक्स्ट के किए गए इस ट्वीट को माना जा रहा है कि इसके जरिए ट्रंप ने एक सख्‍त संदेश देने की कोशिश की है।

अमेरिका ने कहा – हमले की योजना बना रहा था सुलेमानी..  अमेरिका के रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कहने पर यह कार्रवाई की गई है। राष्‍ट्रपति ट्रंप ने विदेश में अमेरिकी कर्मियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए ईरान के रेवोल्यूशनरी गार्ड्स कमांडर कासिम सुलेमानी को मारने का आदेश दिया था। व्‍हाइट हाउस ने कहा कि जनरल सुलेमानी सक्रिय रूप से इराक में अमेरिकी राजनयिकों और सैन्य कर्मियों पर हमले की योजना बना रहा था। जनरल सुलेमानी और उसकी कुर्द फोर्स सैकड़ों अमेरिकियों की मौत के लिए जिम्मेदार हैं।

ईरान ने अमेरिका के इस हमले पर बेहद तल्‍ख प्रतिक्रिया दी है। अमेरिकी विदेश मंत्री जावेद जरीफ ने कहा कि अमेरिका की यह कार्रवाई अंतरराष्‍ट्रीय आतंकवाद है। जनरल सुलेमानी उस कुर्दिश सैन्‍य बल के प्रमुख थे जो आइएस, अल नुसरा, अल कायदा के खिलाफ प्रभावी लड़ाई लड़ रहा था। इस हमले के लिए अमेरिका जिम्‍मेदार है। अमेरिका की यह मूर्खतापूर्ण और घातक कार्रवाई है। मालूम हो कि अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप ने बगदाद स्थित अमेरिका दूतावास पर इराकी प्रदर्शनकारियों के हमले के पीछे ईरान को दोषी ठहराया था। उन्‍होंने चेतावनी दी थी कि अमेरिका इसके दोषियों पर कार्रवाई करेगा।
आप को बता दें कि बीते दिनों ईरानी मिलिशियन के समर्थकों ने बगदाद स्थित अमेरिकी दूतावास पर हमला बोल दिया था। प्रदर्शनकारी परिसर में घुस गए थे और दूतावास के गेट और खिड़कियों को तोड़ दिया था। प्रदर्शनकारियों ने दूतावास के गेट पर आग लगा दी थी। प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए सुरक्षा बलों को आंसू गैसे के गोले छोड़ने पड़े थे। इसके बाद अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर ने कहा था कि 82वीं एयरबोर्न डिवीजन के करीब 750 सैनिकों को पश्चिम एशिया में तैनात किया जाएगा। बताया जाता है कि प्रदर्शनकारी पूर्व में हुए अमेरिकी एयर स्‍ट्राइक से नाराज थे जिसमें 25 कुर्द लड़कों की मौत हो गई थी।

लेखक: OM TIMES News Paper India

(Regd. & App. by- Govt. of India ) प्रधान सम्पादक रामदेव द्विवेदी 📲 9453706435 🇮🇳 ऊँ टाइम्स , सम्पादक अविनाश द्विवेदी

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s