लखनऊ में हुई हिंसा में शामिल 100 से ज्यादा उपद्रवियों को भेजा गया रिकवरी नोटिस

OM TIMES e-news paper India     . publish date – 26/12/2019. https://omtimes.in 2019..1लखनऊ (ऊँ टाइम्स)  लखनऊ में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर 19 दिसम्बर की दोपहर भड़की हिंसा में शामिल उपद्रवियों के खिलाफ प्रशासनिक कार्रवाई शुरू हो गई है. जिसके तहत 100 से अधिक लोगों को अब तक नोटिस भेजी जा चुकी है. साथ ही अभी भी लोगों को चिन्हित करने की प्रक्रिया जारी है. उधर जिन परिवारों को संपत्ति जब्त करने की नोटिस भेजी गई है वे खुद को निर्दोष बता रहे हैं. हालांकि प्रशासन की तरफ से कार्रवाई का सिलसिला अभी भी जारी है. अब तक पूरे प्रदेश में 10,000 से अधिक लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा चुका है तो लगभग 1000 लोगों की गिरफ्तारी भी की जा चुकी है. साथ ही 6000 के आसपास लोगों को हिरासत में लिया गया है!
यूपी में हुई हिंसा के दौरान हुए सार्वजनिक और निजी संपत्तियों के नुकसान की भरपाई सरकार ने उपद्रव करने वालों से ही करने का फ़ैसला किया है. इसकी घोषणा ख़ुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने की थी. अब सरकार की तरफ से हिंसा करने वालों को चिन्हित करके उन्हें नोटिस भेजने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है, इसके तहत हिंसा में शामिल लोगों के नाम से उनके घर पर नोटिस भेजा जाएगा और एक हफ्ते में उन्हें अपना पक्ष रखना होगा. इसके बाद अगर वो ख़ुद को निर्दोष साबित नहीं कर पाते हैं तो उन्हें एक तय राशि का भुगतान सरकार को क्षतिपूर्ति के तौर पर करना होगा. निर्धारित राशि न देने वालों पर कानूनी कार्रवाई होगी, जिसमें जेल जाना शामिल है!
लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश के मुताबिक नुकसान का अनुमान करोड़ों में है और अभी आंकलन किया जा रहा है कि आखिर कितना नुकसान हुआ है. हर सेक्टर में नुकसान का आंकलन करके हिंसा करने वालों पर जुर्माने की राशि तय की जाएगी! उन्होंने बताया कि सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइंस का पालन करते हुए हमने यह कार्रवाई शुरू कर दी गई है!

कुछ के परिवार वाले अपनों को बता रहे हैं निर्दोष –  लखनऊ हिंसा मे जेल भेजे गए मोहम्मद कलीम की बहन मेहरून्निसा का कहना है कि वह गरीब है झोपड़पट्टी में रहती हैं कहां से भरपाई करेंगे. भाई को किस तरह छुड़ाने की कोशिश करेंगे. मेहरून्निसा थाना जानकीपुरम झोपड़पट्टी में रहती हैं. साजिद अली पुत्र शाकिर अली थाना पारा आगजनी के मामले में जेल में है! इस मसले पर साजिद के पिता का कहना है कि उनका बेटा एक लड़की के साथ चौक गया था, जहां से वह आ रहा था तो रास्ते में भगदड़ के समय पुलिस ने पकड़ लिया, हम भरपाई कहां से करेंगे, हमारा बेटा निर्दोष है, वह बजाज कंपनी में काम करता था, सरकार सब कुछ है,सरकार जहां बुलाएगी हम वहां जाएंगे!

लेखक: OM TIMES News Paper India

(Regd. & App. by- Govt. of India ) प्रधान सम्पादक रामदेव द्विवेदी 📲 9453706435 🇮🇳 ऊँ टाइम्स , सम्पादक अविनाश द्विवेदी

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s