चौकीदार चोर है कहने के मामले में राहुल की माफी हुई मंजूर

OM TIMES e-news paper India
Publish Date- 14/11/2019. https://omtimes.in

नई दिल्ली (ऊँ टाइम्स)  सुप्रीम कोर्ट ने आज तीन बड़े मामलों पर अपना फैसला सुनाया है। कोर्ट ने राफेल विमान सौदे, सबरीमाला विवाद और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के अवमानना मामले में अपना निर्णय दिया है। राहुल गांधी को जहां सुप्रीम कोर्ट ने राफेल चौकीदार चोर है वाले बयान पर माफी देते हुए नसीहत दी है, वहीं राफेल मामले में पुनर्विचार याचिका को भी खारिज कर दिया है।

सुप्रीम कोर्ट ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ राफेल मामले में उनका ‘चौकीदार चोर है’ टिप्पणी को गलत ठहराते हुए अदालत ने कहा कि गांधी द्वारा की गई टिप्पणी सच्चाई से दूर थी और उन्हें ऐसी टिप्पणियों से बचना चाहिए था और सावधान रहना चाहिए था।

सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी द्वारा कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ गलत तरीके से अदालत में शिकायत करने के लिए दायर याचिका को खारिज कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी को नसीहत देते हुए  अदालत में अपनी टिप्पणी के लिए भविष्य में अधिक सावधान रहने के लिए कहा है।
सुप्रीम कोर्ट के आदेश को आधार बनाकर राहुल गांधी ने पीएम के लिए चौकीदार चोर है बयान दिया था जिसपर भाजपा सांसद मीनाक्षी देखी ने राहुल गांधी के खिलाफ अवमानना याचिका दाखिल हुआ था! राहुल ने उक्त बयान पर कोर्ट से माफी मांगा था !
मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई और जस्टिस एस के कौल और के एम जोसेफ ने कहा कि किसी भी सत्यापन के बिना राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री के खिलाफ कुछ टिप्पणी की गई थी, जो प्रधानमंत्री के खिलाफ थी।

सुप्रीम कोर्ट ने राफेल मामले में दायर पुनर्विचार याचिका को खारिज कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने 14 राफेल जेट के सौदे को बरकरार रखते हुए 14 दिसंबर 2018 के फैसले के खिलाफ राफेल समीक्षा याचिकाओं को खारिज कर दिया है।
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के चौकीदार चोर है बयान को कोर्ट ने दुर्भाग्यपूर्ण कहा है! हालांकि कोर्ट ने राहुल गांधी को भविष्य मे बयान देने मे सावधान रहने की नसीहत दे अवमानना कार्यवाही समाप्त किया!
सुप्रीम कोर्ट ने सबरीमाला केस को बड़ी बेंच को सौंप दिया है। इस मामले की सुनवाई को 7 जजों की बड़ी बेंच को भेज दिया गया है। इस फैसले के साथ ही सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर रोक हट गई! है। भारत के मुख्य न्यायाधीश ने कहा कि पूजा स्थलों में महिलाओं का प्रवेश इस मंदिर तक सीमित नहीं है, इसमें मस्जिदों और पारसी मंदिरों में महिलाओं का प्रवेश भी शामिल है।’ सुप्रीम कोर्ट ने सभी आयु वर्ग की महिलाओं के सबरीमाला मंदिर में प्रवेश की अनुमति देने वाले फैसले के खिलाफ समीक्षा याचिका पर अपना फैसला सुनाया है।
सुप्रीम कोर्ट ने 3:2 के बहुमत से समीक्षा याचिकाओं को बड़ी बेंच को सौंप दिया है।न्यायमूर्ति रोहिंटन फली नरीमन और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ इस फैसले के विपक्ष में रहे-
अहम फैसले दिए-  राफेल सौदा मामले में मोदी सरकार को क्लीन चिट देने के पूर्व फैसले की समीक्षा की मांग वाली अजिर्यों पर कोर्ट ने फैसला दिया।

भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी द्वारा कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ दायर आपराधिक अवमानना याचिका पर भी फैसला दिया।

फ्रांस से साथ किए गए इस समझौते में केंद्र सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे, जिसके बाद इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई थी। इसमें मामले की जांच, खरीदने की प्रक्रिया, पीएमओ के दखल पर सवाल खड़े किए गए थे। हालांकि राफेल मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में केंद्र सरकार को राहत दी थी। इसके बाद मामले में पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी और वकील प्रशांत भूषण ने सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर किया था!

राहुल गांधी का अवमानना मामला-  पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा चुनावों के दौरान राफेल विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के एक विवादास्पद टिप्पणी की थी।राहुल गांधी ने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट ने मान लिया है कि चौकीदार चौर है। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट में बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने याचिका दायर किया था।

लेखक: OM TIMES News Paper India

(Regd. & App. by- Govt. of India ) प्रधान सम्पादक रामदेव द्विवेदी 📲 9453706435 🇮🇳 ऊँ टाइम्स , सम्पादक अविनाश द्विवेदी

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s