पटना में आफत बनी बारिश ने दिया राहत, राजधानी में गिरी कैबिनेट ऑफिस की छत

OM TIMES news paper India web
Publish Date-30/9/2019. https://omtimes.in 2019...7राजेन्द्र नगर ,पटना  (ऊँ टाइम्स)  बिहार में 60 घंटे की लगताार आफत की बारिश के बाद अब राहत के आसार दिखाई दे रहे हैं। राज्‍य में फिलहाल बारिश का खतरा टल गया है। पटना सहित कई जगहों पर मौसम अब साफ होता दिख रहा है। इस बीच पहले की बारिश के कारण जलमग्न इलाकों में राहत व बचाव कार्य और भी तेज हो गया है! राहत व बचाव में मदद के लिए केंद्र सरकार ने वायुसेना का दो हेलीकॉप्‍टर उपलब्‍ध करा दिया है ।

लगातार हो रही भारी बारिश के कारण राजेंद्र नगर स्थित अपने निजी घर में परिवार के साथ फंसे उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी काे प्रशासन ने वहां से निकाल लिया। उधर, लोक गायिका शारदा सिन्‍हा भी राजेंद्र नगर स्थित अपने घर में फंसी हुईं हैं। उन्‍होंने ट्वीट कर मदद मांगी है। इस बीच पटना में कैबिनेट ऑफिस की छत गिरने से वहां मौजूद अधिकारी व कर्मचारी बाल-बाल बचे।

OM TIMES NEWS LIVE UPDATES

– पटना में कैबिनेट ऑफिस की छत गिर गई। इससे वहां मौजूद अधिकारी व कर्मचारी बाल-बाल बचे।

– लोक गायिका शारदा सिन्‍हा ने ट्वीट कर सरकार से मांगी मदद। लिखा- पटना के राजेंद्र नगर के अपने घर में फंसी हुईं हैं। मदद के लिए अपील किया।

– राहत व बचाव के उपाय नाकाफी, एनडीआरएफ व एसडीआरएफ के राहत व बचाव से असंतुष्‍ट हैं लोग।

– पटना के प्रभावित इलाकों में छतों पर राहत की आस में आसमान पर नजर टिकाए लोग। वायुसेना के दो हेलीकॉप्‍टर पहुंचे पटना। इनकी मदद से थोड़ी देर में प्रभावित इलाकों में गिराए जाएंगे फूड पैकेट।

– भारी बारिश के कारण पटना के राजेंद्र नगर इलाके में अपने निजी घर में फंसे उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी को प्रशासन ने आज बाहर निकाला। वे वहां परिवार के साथ चार दिनों से फंसे थे।

– भारी बारिश से बिगड़ी पटना की स्थिति पर जेडीयू के राष्‍ट्रीय महासचिव का बयान: इसके लिए मुख्‍यमंत्री नीतीश्‍ा कुमार नहीं हैं। यह जलवायु परिवर्तन का नतीजा है।

– पटना में बिगड़े हालात पर खूब होने लगी राजनीति। आरजेडी सासंद मनोज झा बोले: अलर्ट के बावजूद लापरवाह रही सरकार। प्राकृतिक आपदा में मानवीय भूल मिल जाने से स्थिति बिगड़ी।

– पटना पहुंचे वायुसेना के दो हेलीकॉप्‍टर। इनकी मदद से थोड़ी देर में प्रभावित इलाकों में गिराए जाएंगे फूड पैकेट।

– भारी बारिश के कारण बिगड़ी पटना की स्थिति का उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने जायजा लिया। साथ में डीएम भी थे।

– भारी बारिश से बिगड़ी पटना की स्थिति पर जेडीयू के राष्‍ट्रीय महासचिव का बयान: इसके लिए मुख्‍यमंत्री नीतीश्‍ा कुमार नहीं हैं। यह जलवायु परिवर्तन का नतीजा है।
बतादें कि भारी बारिश के कारण पटना सहित बिहार में जगह-जगह जन-जीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया है। सड़क व रेल यातायात भी प्रभावित हुए हैं। पूरे बिहार में अब तक बाढ़ और बारिश के कारण 29 लोगों की जानें चलीं गईं हैं। उधर, गंगा समेत सभी छोटी-बड़ी नदियां उफान पर हैं।
पटना में करीब 45 साल बाद ऐसा जल-जमाव देखने को मिला है। इसने 1975 की बाढ़ की याद दिला दी है, जब पटना डूब गया था। सड़काें पर नाव चल रही है और लोग घरों के घरों तथा अस्‍पतालों तक में पानी घुस गया है।
पटना के राजेंद्रनगर, कंकड़बाग, लंगर टोली, बहादुरपुर, गर्दनीबाग, सरिस्ताबाद, चांदमारी रोड, पोस्टल पार्क, इंदिरानगर, संजय नगर, अशोक नगर, बोरिंग रोड, पाटलिपुत्र कॉलोनी, श्रीकृष्णापुरी, राजीवनगर, रामकृष्णानगर, संदलपुर, दीघा व कुर्जी आदि इलाकों में जगह-जगह जल-जमाव हो गया है। हालत यह हो गई है कि कई जगह जिला प्रशासन की ओर से नौका परिचालन किया जा रहा है। पटना में कुछ इलाकों में यातायात पूरी तरह से ठप है। नगर के प्रभावित इलाकों में घंटों से बिजली आपूर्ति नहीं की जा रही है।
पटना में रहने वाले कुछ मंत्रियों के घरों में भी पानी घुस गया है। राजेंद्र नगर स्थित राज्य के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और नागेश्वर कॉलोनी स्थित भाजपा सांसद राजीव प्रताप रूडी के घरों में दो से तीन फीट तक बारिश का पानी घुस गया है। नेताजी मार्ग स्थित नंदकिशोर यादव, मंत्री प्रेम कुमार आदि के सरकारी आवास भी पानी में डूबे हैं। शिक्षा मंत्री कृष्ण नंदन वर्मा, विधान परिषद के कार्यकारी सभापति हारुण रशीद तथा परिवहन मंत्री संतोष निराला के घर में भी पानी है। नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा, जिनपर नगर की साफ-सफाई, जन-निकासी और विकास की जिम्मेदारी है, के घर में भी पानी घुस गया है।
बारिश थमने के बाद राजेंद्र नगर स्थित अपने निजी घर में फंसे उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी को एनडीआरएफ (NDRF) की टीम ने नाव पर बैठा कर किनारे छोड़ा। इसके बाद वे अपने सरकारी आवास गए!
बिहार सरकार ने पटना के प्रभावित इलाकों में राहत व बचाव के लिए वायुसेना से दो हेलीकॉप्‍टर मंगाए हैं। इनके माध्‍यम से फंसे लोगों को निकाला जाएगा तथा फूड पैकेट्स व दवाएं पहुंचायी जाएंगी।
जल-जमाव के कारण पटना में चिकित्सा व्यवस्था पर असर पड़ा है। पटना मेडिकल कॉलेज व अस्‍पताल (पीएमसीएच) में पानी भर गया है। अस्‍पताल के मेडिसिन वार्ड तक में पानी घुसा हुआ है। यही हाल पटना के दूसरे बड़े अस्‍पताल नालंदा मेडिकल कॉलेज व अस्‍पताल (एनएमसीएच) का भी है। वहां वार्ड में पानी भर गया है। मरीजों का इलाज उसी हालत में हो रहा है। इस कारण अस्‍पतालों में डॉक्‍टरों व अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों के मरीजों तक पहुंचने में भी परेशानी हो रही है।

लेखक: OM TIMES News Paper India

(Regd. & App. by- Govt. of India ) प्रधान सम्पादक रामदेव द्विवेदी 📲 9453706435 🇮🇳 ऊँ टाइम्स , सम्पादक अविनाश द्विवेदी

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s